जिले में पहली बार धान उपार्जन के साथ धान का उठाव भी हुआ प्रारंभ

Joharcg.com 01 दिसम्बर से धान एवं मक्का उपार्जन प्रारंभ होने के साथ जिले के 47 समितियों द्वारा 54 धान उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 हेतु समर्थन मूल्य में धान खरीदी प्रारंभ कर दी गई है। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रयास करते हुए कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के निर्देश पर धान उपार्जन के साथ धान का समितियों से उठाव भी प्रारंभ कर दिया गया है। यह पहली बार है कि धान उपार्जन प्रारंभ होने के चौथे दिन ही धान के उठाव के लिए मिलर्स को डीओ जारी कर पांचवें दिन से धान का उठाव प्रारंभ कर दिया गया है। ज्ञात हो कि गतवर्ष कोरोना महामारी के प्रसार एवं मिलर्स को डीओ जारी न होने एवं अन्य समस्याओं के कारण धान उठाव का कार्य बाधित रहा था तथा धान खरीदी के एक दिन पूर्व ही धान का पूर्ण उठाव हो सका था। जिसे ध्यान में रखते हुए कलेक्टर द्वारा इस बार धान के उठाव पर विशेष जोर देते हुए पहले दिन से ही डीओ जारी करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर धान उपार्जन के साथ धान के उठाव को भी लगातार जारी रखने के निर्देश दिये थे।

इस संबंध में डीएमओ रविकांत नेताम ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर इस वर्ष धान उपार्जन के साथ धान के उठाव पर भी विशेष जोर दिया जा रहा है। जिसके तहत् कोण्डागांव जिले में इस वर्ष पहली बार धान खरीदी के चौथे दिन से ही कस्टम मिलरों को धान उठाव हेतु पंजीयन कर अनुमति एवं अनुबंध का कार्य पूर्ण कर लिया गया है साथ ही मेसर्स पारस एग्रो इण्डस्ट्रीज ब्यालपुर केशकाल द्वारा धान उपार्जन केन्द्र बड़ेराजपुर से 48 मे.टन का डीओ जारी कर धान उठाव कार्य पूर्ण कर लिया गया है। आने वाले समय में उठाव में और अधिक तेजी लायी जावेगी। ज्ञात हो कि 01 दिसम्बर 2021 से अब तक कुल 8006 मे.टन धान का उपार्जन किया गया है। जिले के सभी धान उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी हेतु पर्याप्त बारदाना पहुंचाया जा रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा सतत् निगरानी हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त करने के साथ जिला स्तरीय निगरानी समिति का भी गठन किया गया है। जो लगातार धान उपार्जन की व्यवस्थाओं का मुआयना कर उपार्जन संबंधी दिशा निर्देश प्रदान कर रही हैं।