joharcg.comकोंडागांव। जिले में एक शिक्षक की करतूत से दसवीं कक्षा में अध्ययनरत एक नाबालिग बच्ची की जान चली गई। ग्रामीणों ने आरोपी शिक्षक पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। परिजन और ग्रामीणों ने कोंडागांव थाना पहुंचकर पुलिस अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई।  कोंडागांव शहर के रहने वाले शिक्षक विनोद शार्दुल ने अपने भाई नीलकंठ शार्दुल के निर्माणाधीन मकान में मजदूरी का काम करने के लिए अपने स्कूल में नवमी कक्षा में अध्ययनरत दो नाबालिक छात्राओं को मजदूरी का काम करने को कहा, लेकिन छात्राओं ने मना कर दिया।  जिसके बाद शिक्षक ने दोनों ही छात्राओं को नवमी कक्षा में फेल करने की धमकी देकर अपने साथ ले गया।

 मृत नाबालिक छात्रा की मां ने बताया कि उनकी बेटी ने शिक्षक के इस फरमान को लेकर घर में भी जानकारी दी और बताया कि अगर मजदूरी नहीं करेंगे तो शिक्षक विनोद शार्दुल उन्हें फेल कर देंगे. इसके बाद परिजनों को पता भी नहीं चला और स्कूल से दोनों नाबालिग छात्रा शिक्षक के साथ नीलकंठ शार्दुल के निर्माणाधीन मकान में मजदूरी का काम करने चले गए. यहां पर रेत और गिट्टी उठाने का काम करने लगे। इसी दौरान एक नाबालिग छात्रा छत के ऊपर से नीचे गिर गई और इससे छात्रा की जान चली गई, मृत नाबालिक छात्रा की मां का कहना है कि नवमी कक्षा में फेल करने के भय से उनकी बेटी मजदूरी का काम करने गई और अब उसकी लाश घर पहुंची।