माँ चन्द्रहसिनी, चंद्रपुर

Maa Chandra Haashinee

Maa Chandra Haashinee माँ चन्द्रहसिनी का प्रसिद्ध  मंदिर छत्तीसग़ढ़ के जांजगीर – चांपा  जिले में स्थित है|  यह विशाल महानदी के तट पर चंद्रपुर  नामक  नगर पर स्थित है  इसे माँ दुर्गा का रूप भी माना  जाता है| माता रानी का मंदिर काफी विशाल है जिसे देखते ही लोगो की  आखे चकाचौंद  हो जाती है   माता का भव्य स्वरुप सभी भक्तो को अपनी ओर  आकर्षित  करती है | यहाँ मंदिर परिसर पर नाना प्रकार की भव्य प्रतिमा  का निर्माण किया गया है जिसमे विशाल हनुमान जी ,अर्ध नारिश्वर  महादेव की प्रतिमा भक्तो को दूर से ही नजर आती है  ,यहाँ पर द्रोपती चिर हरण ,कृष्णा की बाल लीला ,गजराज को भगवान  विष्णु के द्वारा उसकी रक्षा  करने की प्रतिमा  माँ दुर्गा के नव रूप  अनेक ऋषि मुनि की प्रतिमा बनी  हुई है | यहाँ पर एक सर्व धर्म की मंदिर बनी  हुई है | जिसमे सभी धर्मो में आराध्य देवी  देवतावो की प्रतिमा स्थापित किया गया है |  यह मंदिर सभी धर्मो को एकता के सूत्र में बांधने  का कार्य कर रही है |

यहाँ पर हर समय माता के दरबार में हजारो – लाखो भक्तो का ताता  लगा रहता है उन सभी भक्तो को माता के दर्शन में किसी प्रकार की कोई  कस्ट  ना हो उसका उचित  व्यवस्था मंदिर समिति के द्वारा किया गया है 

यहाँ पर प्रति वर्ष शारदीय  और चैत्र  नवरात्र  में यहाँ विशाल मेले का आयोजन किया जाता है |   जिसमे विशाल जन  समुदाय उमड़ता है | जो देखने लायक होता है इस नगर में दशहरा को काफी धूमधाम और हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है |

यहाँ पर मंदिर से थोड़ी दूर माँ  नाथल  दाई   का मंदिर स्थित है  जो महानदी के संगम के भीच  टापू पर स्थित  है |

 कैसे पहुंचे –  यह मंदिर जिला मुख्यालय  जांजगीर  से लगभग  120  कि. मी  तथा रायगढ़ से 32  कि. मी  की दुरी पर स्थित है | राजधानी रायपुर से यहाँ  सरायपाली  सारंगढ़  होते हुवे लगभग 200  कि. मी  दुरी तय कर यहाँ पंहुचा  जा सकता है यहाँ नियमित बसे  चलती रहती है | यही रास्ते  से परम तेजस्वी कलयुग के भगवान बाबा सत्यनारायण के दर्शन किया जा सकता है |   जो लगभग १२  वर्षो से तपस्या में बैठे है |