लॉकडाउन में बैंक सखियों ने घर-घर पहुंचायी बैंकिंग सुविधाएं

बैंक सखियों के द्वारा गांवों में 5 करोड़ 35 लाख रूपए का किया गया लेन-देन

रायपुर – कोविड-19 के संक्रमण की विभीषिका से शहर और गांव थम से गए हैं। इस आपदा की वजह से लॉकडाउन के कारण लोग घर से नहीं निकल पा रहे हैं, परन्तु ऐसी परिस्थिति में भी छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान की बैंक सखी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। राजनांदगांव जिले में लॉकडाउन के दौरान इन बैंक सखियों के द्वारा 25 मार्च 2020 से 28 अप्रैल 2020 तक कुल 5 करोड़ 35 लाख 47 हजार 760 का लेन-देन किया गया है। इसके लिए कुल 32 हजार 748 ट्रांजेक्शन किया गया। इन बैंक सखियों के द्वारा सामाजिक दूरी एवं कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आवश्यक सावधानी को अपनाते हुए ग्राम स्तर पर ही ग्रामवासियों को घर पहुंच बैंकिंग सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान अंतर्गत जिला राजनांदगांव के 9 विकासखंडों के ग्रामों में कुल 117 बैंक सखी (कियोस्क, मार्को एटीएम एवं डीजीपे) कार्यरत हैं, जिनके द्वारा ग्रामवासियों को ग्राम स्तर पर ही राशि आहरण, जमा, फण्ड ट्रांसफर के साथ-साथ शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत पेंशन हितग्राहियों को पेंशन भुगतान, मनरेगा मजदूरों को मजदूरी भुगतान, जनधन खाता हितग्राहियों, किसान सम्मान निधि के हितग्राहियों एवं अन्य हितग्राहियों को बैंकिंग सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बैंक सखियों के द्वारा समय-समय पर हाथ धोना, आंख नाक व मुंह को छूने से परहेज करना, छींकने व खांसते समय अपने मुंह व नाक को ढंकना, बायोमैट्रिक रीडर को इस्तेमाल से पहले व बाद सेनिटाईज करना एवं सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है। साथ ही हितग्राहियों को भी सतर्कता बरतने एवं कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जागरूक किया जा रहा है।