सूरजपुर जिले में भैयाथान को अनुभाग और बिहारपुर को तहसील बनाने मुख्यमंत्री ने की घोषणा

रायपुर – मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने जिला मुख्यालय सूरजपुर के डीएव्ही पब्लिक स्कूल मैदान में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए जनसुविधा के लिए भैयाथान को अनुभाग और बिहारपुर को तहसील बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि किसानों को धान खरीदी में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आयेगी। छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की धान 2 वर्षो से समर्थन मूल्य पर खरीदी की है और इस वर्ष भी खरीदेगी। सरकार द्वारा अपने वायदे के मुताबिक राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत् अंतर की राशि प्रदाय की जायेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में 1300 सोसायटियां थी जिसे किसानों की सुविधा के लिए बढ़ाकर 2300 कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त सभी आदिम जाति सेवा सहकारी समिति में पर्याप्त बारदाना की व्यवस्था की गई है ताकि किसानों को कोई असुविधा न हो। वन अधिकार पट्टा के तहत् प्रदाय किये गये पट्टे की भूमि में फलदार वृक्षो का रोपण किया जा रहा है, जिससे स्थानीय स्तर पर वनोपज को बढ़ावा मिला है, और ग्रामीणों को आजीविका भी प्राप्त होगी। 

श्री भूपेश बघेल ने कहा कि देश में छत्तीसगढ़ हीेे एकमात्र ऐसा राज्य है जहां गोधन न्याय योजना के तहत् गोबर की खरीदी की जा रही है। गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाकर खेतों में उपयोग करने से जमीन की उर्वरा शक्ति में बढ़ोतरी के साथ ही उत्पादन में भी वृद्धि होगी तथा पर्यावरण के अनुकूल होगा। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि अंग्रेजी माध्यम स्कूल खुलने से अब निम्न आय वर्ग के गरीबों के बच्चों को भी निजी स्कूलों की तर्ज पर अच्छी शिक्षा प्राप्त होगी और वे प्रतिस्पर्धा में भाग ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि आगामी एक वर्ष में प्रदेश के सभी विकासखण्डों में अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जाएंगे, जिससे सभी क्षेत्र के लोगों को लाभ होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में लाखो की संख्या में मजदूर वापस आये थे, जिनको क्वारंटाईन में रखकर स्वास्थ्य सुविधा के साथ-साथ निःशुल्क नियमित दिनचर्या के अनुसार सामग्री मुहैया कराई गई। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सूरजपुर जिले को नरवा, गरवा, घुरूवा और बाड़ी योजना के तहत् भू-जल संरक्षण के कार्य में देश में प्रथम स्थान और झिलमिली थाना को देश में उत्कृष्ट थानों में चौथा स्थान प्राप्त करने पर बधाई एवं शुभकामनाएॅ दी। 


प्रदेश के छात्रों को अंग्रेजी स्कूल माध्यम से मिलेगी उत्कृष्ट शिक्षा – स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में 52 अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले गये हैं। इन स्कूलों का नाम स्वामी आत्मानंद के नाम पर रखा गया है। उन्होंने लॉकडाउन की अवधि में शिक्षा विभाग द्वारा संचालित नवाचार बुलटू के बोल, मोहल्ला क्लास तथा पढ़ई तुंहर दुआर जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से शिक्षकों और छात्रों के बीच बेहतर तालमेल बनाकर शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार के साथ महत्वपूर्ण काम किया जा रहा है।

वादों पर अमल करने वाली सरकार: उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटेल
उच्च शिक्षा तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल की सरकार एक ऐसी सरकार है, जिसने अपनी 36 घोषणाओं में से 24 घोषणा पूरी कर दी है। किसी भी सरकार का आंकलन उसके घोषणा पत्र पर अमल करने से ही होता है। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति की मूलभूत आवश्यकताओं पर यदि विकास हो, तो यही सच्चा विकास है। स्वास्थ्य, शिक्षा, पानी, बिजली, राशन जैसे मूलभूत आवश्यकताएं होती हैं, जिसके बेहतरी के लिए प्रदेश सरकार कई योजनाएं बनाकर आमजनों को लाभ दिला रही है।

अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएॅ मुहैया कराने सरकार प्रतिबद्ध: श्री सिंहदेव
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के बेहतर समन्वय से कोरोना संकटकाल में स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों और उनकी टीम मिलकर साथ खड़े रहे हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के दो साल के कार्यकाल में न केवल सरगुजा संभाग बल्कि प्रदेश में बहुत अच्छा विकास का कार्य किया है। जिले के स्थानीय जनप्रतिनिधि जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए लगातार प्रयासरत हैं। कार्यक्रम को संसदीय सचिव श्री पारसनाथ राजवाडे़ ने भी संबोधित किया। 

इस अवसर पर नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, आर्थिक सांख्यिकी एवं संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, नगरपालिका अध्यक्ष श्री के.के. अग्रवाल सरगुजा संभाग के आयुक्त सुश्री जेनेविवा किण्डो, पुलिस महानिरीक्षक श्री रतनलाल डांगी, कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा एवं जनप्रतिनिधि तथा आमजनता उपस्थित थे।