मत्स्य कृषक श्री देवप्रकाश चौधरी मत्स्य बीज संवर्धन कार्य से आर्थिक रूप से संबल हुये

 रायगढ़- विकासखण्ड पुसौर के ग्राम.लंकापाली के युवा किसान श्री देवप्रकाश चौधरी 12वीं पास करने के बाद मछली पालन का व्यवसाय अपनाया। देवप्रकाश चौधरी मछली पालन विभाग से प्रशिक्षण प्राप्त कर गांव के अन्य छोटे.छोटे कृषकों को जोड़कर एक मछुआ सहकारी समिति का गठन कर गांव के तालाबों को जिला प्रशासन एवं मछली पालन विभाग द्वारा दस वर्षीय पट्टा पर लेकर उन्नत तरीके से मछली पालन का कार्य करते है। उनके मछली पालन के उत्कृष्ट कार्य के कारण उन्हें वर्ष 2018.19 में आत्मा योजन्तर्गत जिला स्तरीय प्रथम पुरस्कार से रायपुर में सम्मानित किया गया।
देवप्रकाश चौधरी द्वारा इस वर्ष माह जुलाई में शासकीय मत्स्य बीज प्रक्षेत्र चांदमारी से राशि 6000 रुपये का 10 लाख मिश्रित मत्स्य बीज स्पान क्रय कर अपने गांव के एक छोटी सी डबरी में संवर्धन कर फिंगरलिंग साइज का 150 किलो ग्राम प्रति किलो ग्राम 400 रुपये की दर से विक्रय कर 60000 की आमदनी प्राप्त किया और अतिरिक्त मत्स्य बीज को अपने पट्टे पर लिये तालाबों में संचय कियाए जिससे उनकी समिति को मछली बीज क्रय नही करना पड़ा।
देवप्रकाश ने बताया कि मत्स्य बीज संवर्धन योजनाए मछली पालन विभाग की एक अच्छी योजना है। इसमें कृषक कम लागत एवं कम समय में अधिक मुनाफा कमा सकता है। उन्होंने कहा कि आगामी वर्षों में मत्स्य बीज संवर्धन कार्य को विस्तार रूप से करने का है।