लॉकडाउन के पहले दिन ही असर दिखने लगा गलियां सुनी , सड़कें वीरान

बिना कारण घर से निकलने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश

जिले की सीमाएं सील

गरियाबंद – गरियाबंद जिले में लॉक डाउन का असर साफ देखने को मिल रहा है।  लॉकडाउन पर प्रशासन की कड़ी नजर है, बेवजह इधर उधर घूमने वाले लोगों पर पुलिस प्रशासन सख्ती से पेश आ रही है। गौरतलब है कि जिला गरियाबंद में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चैन को तोड़ने के लिए 23 सितंबर की रात्रि 9:00 बजे से 30 सितंबर की रात्रि 12:00 बजे तक संपूर्ण जिले को कंटेंटमेंट जोन घोषित किया गया है और धारा 144 लगाई गई है ।कलेक्टर  श्री छतर सिंह डेहरे ने आदेश में कहा है कि  केवल अति आवश्यक कार्य के लिए ही  बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी, बाकी अन्य लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं पुलिस अधीक्षक श्री भोजराम पटेल ने अपने मातहतों को निर्देशित करते हुए कहा है कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए ।जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है । राजिम के श्यामाचरण चौक से लेकर देवभोग के खुटगांव तक चेक पोस्ट से निगरानी की जा रही है ।वही पुलिस पेट्रोलिंग के माध्यम से भी लगातार निगरानी की जा रही है ।ज्ञात है कि जिले में लॉकडाउन को गंभीरता से पालन करने के निर्देश आम लोगों को दिया गया है।  गरियाबंद तिरंगा चौक ,छुरा ,मैनपुर ,देवभोग राजिम और फिंगेश्वर में लाक डाउन का असर  कल रात से ही देखने को मिल रहा है । जगह जगह पुलिसकर्मी तैनात है। कलेक्टर ने राजस्व और पुलिस विभाग को समन्वय कर लॉकडाउन पालन कराने के लिए निर्देशित किया है। वहीं आम नागरिकों से भी अपील की गई है कि लॉक डाउन का अनिवार्य रूप से पालन करें और कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चैन को तोड़ने में अपनी सहभागिता निभाएं ।

Comments are closed.