गृह मंत्री ने ली गरियाबंद जिला अधिकारियों की बैठक

गौठान निर्माण, निर्माण कार्यों में गुणवत्ता, कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश

रायपुर – गृह एवं लोक निर्माण मंत्री और गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने आज कलेक्टर कार्यालय गरियाबंद में जिला अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों से आ रहे धान की खरीदी और डम्पिंग पर कड़ी कार्यवाही की जाए। उन्होंने राजस्व, पुलिस, वन विभाग को संयुक्त रूप से लगातार निगरानी कर इसमें रोक लगाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने सभी निर्माण एजंेसियों को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से समझौता नहीं करें। उन्होंने सभी कार्यों को समय-सीमा में पूर्ण करने और नियमित मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए विशेष सावधानी बरतने के भी निर्देश दिए। बैठक में राजिम विधायक श्री अमितेश शुक्ल, कलेक्टर श्री निलेशकुमार क्षीरसागर, पुलिस अधीक्षक श्री भोजराम पटेल एवं सभी विभागों के जिला अधिकारी मौजूद थे।

मंत्री श्री साहू ने शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं की विभागवार समीक्षा की। श्री साहू ने गौठान निर्माण हेतु प्रत्येक पंचायतों में स्थल चिन्हांकन कर कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि यह शासन की महत्वपूर्ण योेजना है। इसे सर्वोच्च प्राथमिकता देवे। उन्होंने गोधन न्याय योजना अंतर्गत गोबर खरीदी और वर्मी कम्पोस्ट निर्माण एवं विक्रय की जानकरी ली। उन्होंने कहा कि गौठानों को स्वावलम्बी बनाने की दिशा में पहल करे। 

श्री साहू ने सभी निर्माण एजेंसियों को गुणवत्ता से समझौता नहीं करने और सरकार की मंशा एवं जनता की जरूरतों के अनुरूप कार्य करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में सड़क नहीं है, उन क्षेत्रों में पहले पुल का निर्माण करें। साथ ही कहा कि ऐसी नौबत न आये कि स्कूली बच्चों और मरीजो को जोखिम से नदी-नाला पार करना पड़े। उन्होंने विद्युत विभाग को इंदागांव सबस्टेशन के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्युतीकृत पम्पों के लंबित कनेक्शन स्वीकृति को शीघ्रता से स्वीकृत करने और ट्रांसफर क्षमता में वृद्धि करने के निर्देश दिये। उन्होंने जल जीवन मिशन अंतर्गत प्रत्येक घरों में नल कनेक्शन देने के पूर्व पंचायत स्तर पर प्रस्ताव लेने और व्यवहारिक पहलुओं पर ध्यान देने के निर्देश दिए। राजिम मेला स्थल चयन के लिए कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को स्थल का मुआयना कर साधु-संतों के आवास के लिए निर्माण कार्य प्रारंभ करने निर्देश दिये है। मंत्री श्री साहू ने सभी विभागों को आगामी बजट के लिए महत्वपूर्ण कार्यों को शामिल कर बजट बनाने के निर्देश भी दिये।