यदि गुजरात में हड़प्पा है तो छत्तीसगढ़ में राम वन गमन पथ है – पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू

‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ अभियान के तहत घरेलू पर्यटन पर रोड शो आयोजित
केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री श्री प्रहलाद पटेल ने किया उद्घाटन

रायपुर – केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद पटेल ने आज “एक भारत श्रेष्ठ भारत” के तहत नवा रायपुर में घरेलू पर्यटन पर आयोजित रोड-शो का उद्घाटन किया। प्रदेश के पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू भी कार्यक्रम में शामिल हुए। इस रोड शो का आयोजन छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल, गुजरात पर्यटन और केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के मुंबई क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केन्द्रीय पर्यटन राज्य मंत्री श्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि कोरोना के दौर में सभी सावधानी बरतते हुए पर्यटन को आगे बढ़ाने की दिशा में लगातार काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ए.एस.आई. द्वारा देश भर के ऐसे सभी स्मारकों की सूची तैयार की जा रही है जो अभी तक न तो राज्य की सूची में शामिल है, और न ही केन्द्र की सूची में है। उन्होंने छत्तीसगढ़ शासन द्वारा विकसित किए जा रहे राम वन गमन पर्यटन परिपथ की सराहना करते हुए कहा कि वे कई बार बस्तर आए हैं। यहां के पर्यटन स्थल बहुत आकर्षक हैं।

छत्तीसगढ़ के पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने रोड शो में कहा कि इस तरह के आयोजन से लोग अलग-अलग राज्यों की कला, संस्कृति और परंपरा से परिचित होते हैं। प्रदेश में इसके आयोजन से पर्यटन उद्योग को गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि यदि गुजरात में हड़प्पा है तो छत्तीसगढ़ में प्राचीन परंपरा और मान्यता अनुसार राम वन गमन पथ है। श्री साहू ने राम वन गमन पर्यटन परिपथ के निर्माण की जानकारी देते हुए उम्मीद जताई कि इसके निर्माण से छत्तीसगढ़ को वैश्विक स्तर पर पहचान मिलेगी।

छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल की प्रबंध संचालक श्रीमती रानू साहू ने कार्यक्रम में शामिल टूर ऑपरेटरों और ट्रवल एजेण्टों को पॉवर प्वाइंट प्रस्तुतीकरण के माध्यम से प्रदेश में पर्यटन की संभावनाओं की जानकारी दी। इस दौरान छत्तीसगढ़ और गुजरात के पर्यटन उद्योग से संबंधित कई जानकारियां भी साझा की गईं। दोनों राज्यों के टूर ऑपरेटरों और ट्रवल एजेण्टों से पर्यटन उद्योग को बेहतर बनाने के लिए सुझाव भी लिए गए। कार्यक्रम में पर्यटन विभाग के सचिव श्री पी. अन्बलगन और केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय के मुंबई क्षेत्रीय कार्यालय के निदेशक श्री डी. वेंकेटेशन भी शामिल हुए। उल्लेखनीय है कि “एक भारत श्रेष्ठ भारत” अभियान के माध्यम से विभिन्न राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों के लोगों के बीच आपसी संबंधों और पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है। एक-दूसरे की संस्कृतियों के प्रचार-प्रसार के लिए भी यह अच्छा माध्यम बन रहा है।