पावनधरा चंदखुरी में मुख्यमंत्री ने मंत्रीगण के साथ माता कौशल्या की विशेष पूजा-अर्चना की

भगवान राम से जुड़े छत्तीसगढ़ के 9 स्थानों से लाए गए मिट्टी में रुद्राक्ष पौधों का रोपण 

रायपुर – राम वन गमन पर्यटन परिपथ के अंतर्गत आज पर्यटन रथ एवं बाईक रैली के समापन अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अपने मंत्रीगणों के साथ माता कौशल्या की विशेष पूजा अर्चना की। इसके बाद उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य के श्री राम वन गमन पथ के 9 विभिन्न स्थानों से लाये गए मिट्टियों से मंदिर परिसर में नौ रुद्राक्ष पौधों का रोपण किया। 

इस अवसर पर लोक निर्माण, गृह, धर्मस्व एवं पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी तथा जल संसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास एवं स्कूल शिक्षा मंत्री श्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, नगरीय प्रशासन मंत्री श्री शिवकुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास एवं समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमेश पटेल, संस्कृति एवं खाद्य विभाग मंत्री श्री अमरजीत भगत भी उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि यह रैली 14 दिसंबर को राज्य के दो सिरों से उत्तर के कोरिया जिले के सीतामढ़ी-हरचौका तथा दक्षिण स्थित सुकमा जिले के रामाराम से शुरु हुई थी। इस रैली ने राज्य में 1575 किलोमीटर की कुल दूरी तय की है। सुकमा से आने वाली रैली ने राजिम से होते हुए रायपुर जिले के नयापारा में प्रवेश किया। इसी तरह कोरिया से आनी वाली रैली ने महासमुन्द जिले के पास महानदी ब्रिज पार कर रायपुर जिले में प्रवेश की। ग्राम बैहार में दोनों रैलियों का सम्मिलन हुआ, जहां से दोनों बाइक रैलियां एक साथ जुड़ कर मंदिर हसौद होते हुए माता कौशल्या की पावनधरा चंदखुरी पहुँची।