कोविड-19 के संक्रमण को कंट्रोल करने 24 घंटे तैनात रहती हैं मेडिकल टीम

रायपुर – देश और दुनिया को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव करने के लिए कोरोना वारियर्स की मेडिकल टीम गांव-गांव 24 घंटे तैनात रहते हैं। इन दिनों प्रवासी श्रमिकों का गांव-गांव अन्‍य राज्‍यों से आने का सिलसिला जारी है। ऐसे में प्रवासी श्रमिकों को सुरक्षित स्‍थान पर 14 दिनों के लिए ठहराने की व्‍यवस्‍था से लेकर उनका हेल्‍थ चेकअप और सेम्‍पल लेकर जांच भी करने की जिम्‍मेदारी मेडिकल टीम के सदस्‍य निभा रहे हैं। राजधानी से लगे अभनपुर ब्‍लॉक के प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र खोरपा सेक्‍टर के अंतर्गत स्‍कूलों व सामुदायिक भवनों में संचालित हैं।

मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ मीरा बघेल ने बताया, प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र खोरपा के प्रभारी ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य सहायक (आरएमए) डॉ. डीएस नेताम के साथ अस्‍पताल के मेडिकल स्‍टॉफ की पूरी टीम ओपीडी के में मरीजों के ईलाज एवं कोरोना महामारी नियंत्रण एवं रोकथाम के कार्य में डटे हुए हैं। मेडिकल टीम में मुख्‍य रुप से डीएस नेताम आरएमए, प्रीती गहिरवारे स्‍टॉफ नर्स, महेश्‍वरी निर्मलकर आरएचओ, रेखा ध्रुव स्‍टॉफ नर्स आदि कार्य कर रहे हैं।


कोरोना संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन अवधि में भी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के द्वारा जारी निर्देशों के तहत आरएमए डॉ. डीएस नेताम द्वारा कोरोना के संदेहियों का सैंपल कलेक्‍ट करके उसे सुरक्षित तरीके से मेडिकल कॉलेज लैब तक पहुंचाने की जिम्‍मेदारी भी निभा रहे है। डॉ नेताम ने बताया अभनपुर ब्लॉक में कुल 93 क्वारेन्टईन सेंटर (संगरोध केंद्र) स्‍कूलों व सामुदायिक भवनों में बनाए गए हैं। प्राथमिक स्‍वास्‍थ्य केंद्र खोरपा सेक्‍टर के अंतर्गत कुल 16 क्वारेन्टईन सेंटर संचालित हैं जिसमें लोगों की ठहरने की बेड क्षमता 295 है। अब खोरपा सेक्‍टर में 17 प्रवासी श्रमिकों को क्‍वारेंटाइन सेंटर और 17 लोगों को होम क्‍वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है। इनमें 34 लोगों का स्‍वाब सेम्‍पल कलेक्‍शन लेकर जांच के लिए भेजा गया है।


डॉ नेताम ने बताया विकासखंड अभनपुर के सभी पीएचसी में से प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र खोरपा का ओपीडी प्रतिमाह 800 से 900 तक और महीने में संस्‍थागत प्रसव 15 से 20 तक होता है। क्षेत्र के ग्रामीण जनता को अस्‍पताल के स्‍टॉफ से मिलने वाली स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं पर विश्‍वास रहता है जिसके चलते अधिक लोग अपना ईलाज के लिए प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र खोरपा में आते हैं। खोरपा पीएचसी में वर्ष 2019 अप्रेल से 2020 मार्च तक वर्ष भर में कुल ओपीडी 11754, आईपीडी 389, डिलवरी 204, मलेरिया जांच 819 सेम्‍पल सभी निगेटीव, बलगम टेस्‍ट 94 लोगों का किया जिसमें 3 का रिपोर्ट पॉजेटिव आने के बाद इलाज किया गया। लॉकडाउन अवधि में कोविड-19 के अलावा भी अस्‍पताल में सोशल डिसटेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए ओपीडी में मरीजों को प्रति दिन स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं मुहैया कराई जा रही है।
खोरपा सेक्‍टर के में संचालित क्‍वारेंटाईन सेंटर में क्षमता कुल 295
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र खोरपा के खोरपा व भटगांव में 60,
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र कोलर के कोलर, विरोदा में 15,
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र परसुलीडीह के परसुलीडीह व भरेंगा में 70,
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र सारखी के सारखी में 70,
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र चंडी के चंडी, गोतियारडीह, आमनेर, सातपारा में 37,
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र बेलर में बेलर, मोहदी, भांठापारा (बे) में 29,
उपस्‍वास्‍थ्‍य केंद्र संकरी में संकरी, उल्‍बा में 12,

sources

Comments are closed.