श्रीमती भेंड़िया ने हाथियों के विचरण से प्रभावित गावों का किया दौरा : महिला एवं बाल विकास मंत्री ने ग्रामीणों से चर्चा कर क्षति की ली जानकारी

Mrs. Bhendia visits the villages affected by the movement of elephants
Mrs. Bhendia visits the villages affected by the movement of elephants
प्रभावित परिवारों को स्वेच्छानुदान से मिलेंगे 15-15 हजार रूपए

रायपुर – महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने गुरूवार को बालोद जिले के डौण्डी विकासखण्ड में हाथियों के विचरण से प्रभावित ग्राम जबकसा, ग्राम खुर्सीटिकुर और ग्राम लिमऊडीह का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से चर्चा कर हाथियों के विचरण से हुई फसल और संपत्ति आदि की क्षति की जानकारी ली। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे, पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र सिंह मीणा और वनमण्डल अधिकारी श्रीमती सतोविशा समाजदार इस अवसर पर मौजूद थे। मंत्री श्रीमती भेंड़िया ने ग्रामीणों से कहा कि हाथियों के विचरण से हुई क्षति का मुआवजा राशि शासन के नियमानुसार प्रदान की जाएगी, इसके अतिरिक्त प्रत्येक प्रभावित परिवार को स्वेच्छानुदान से पन्द्रह-पन्द्रह हजार रूपए भी दिए जाएंगे।

श्रीमती भेंड़िया ने प्रभावित परिवारों की संख्या और रकबा की जानकारी ली। उन्होंने क्षति के आंकलन के लिए तेजी से सर्वे के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीणों की मांग के अनुरूप मनरेगा के तहत् उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए। मंत्री श्रीमती भेंड़िया ने वहां ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी। ग्राम जबकसा के 18 वर्षीय दिव्यांग मनोज कुमार के पिता देवराम ने बताया कि उनका पुत्र दिव्यांग है और उसे दैनिक कार्यों में परेशानियों का सामना करना पड़ता है अतः उसे व्हीलचेयर दिलाया जाए। श्रीमती भेंड़िया ने दिव्यांग मनोज की समस्या को गंभीरतापूर्वक सुना और त्वरित कार्यवाही करते हुए उसे व्हीलचेयर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। किसानों ने बताया कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत् तीसरे किश्त की राशि उनके बैंक खाते में जमा हो गया है। मंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि वे हाथियों से दूर रहें तथा किसी भी प्रकार से उन्हें न उकसाएं।

कलेक्टर श्री महोबे ने बताया कि कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा जिन किसानों के खेतों की फसलों को नुकसान हुआ है, उन्हें रबी फसल के लिए आवश्यक मार्गदर्शन दिया जाएगा। वन मण्डल अधिकारी ने बताया कि वन विभाग के अमले द्वारा सभी प्रभावित ग्रामों में प्रतिदिन निगरानी रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि तेंदूपत्ता संग्राहकों को तेंदूपत्ता संग्रहण की राशि का भुगतान हो चुका है तथा बोनस राशि संग्राहकों के बैंक खाते में जमा हो चुका है। इस अवसर पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री मिथिलेश निरोटी सहित अन्य जनप्रतिनिधि और विभागीय अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे।