पालकी ग्राम में पोषण जागरूकता पर कार्यशाला : पोषण तत्वों के बारे में दी गयी जानकारी

नारायणपुर – इंदिरा गांधी कृषि विश्व विद्यालय रायपुर के अंतर्गत कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र, नारायणपुर और इंडियन डायटिक्स असोसियशन छत्तीसगढ़ रायपुर के संयुक्त तत्वधान में पोषण जागरूकता कार्यशाला का आयोजन ग्राम पालकी में किया गया। इस अवसर पर कृषि महाविद्यालय की अधिष्ठाता डॉ. रत्ना नशीने ने महिलाओं को खाद्य समूह व पोषण तत्वों की जानकारी देते हुए पौष्टिक भोजन कैसे तैयार जा सकता है, इस विषय पर जानकारी दी। उन्होंने बताया की कड धान्यों सें उर्जा, दालों व मांसाहार से प्रोटिन, घी, तेल, मक्खन, आदि से वसा फल और सब्जियों से विटामिनस, खनिज लवण तथा रेशा प्राप्त होता है। इसके साथ ही शुध्द जल के महत्व को बताते हुए डॉ. नशीने के द्वारा दूषित जल से होने वाली बिमारियॉं जैसे पीलिया, टायफाइड की जानकारी भी महिलाओं को दी। इस कार्यशाला में प्रायोगिक रूप से मिश्रित अनाज के आटो का जैसे चावल रागी, गेहूॅं, आटा बेसन, एवं मौसमी सब्जीयों का प्रयोग कर चीला तैयार किया गया तथा अंकूरित चना की सलाद को प्रोयोगिक रूप से बनाकर दिखाया गया तथा इसमें उपलब्ध पोषक तत्वों की जानकारी दी गई।
इस कार्यक्रम में 20 महिलाओं ने भाग लिया कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए पोषण माह कार्यक्रम के अंतर्गत यह कार्यशाला ली गई। इस कार्यक्रम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती मानदयी नाग ग्राम पालकी, कु. रमिला दुग्गा, कुमारी अनिता गार्डी सक्रिय महिलाओं का सहयोग रहा।

Comments are closed.