यूनिडायवर्सनल मोड में होगा दरिमा एयरपोर्ट का परिचालन : मंत्री श्री अमरजीत भगत ने किया एयरपोर्ट का निरीक्षण

म्बिकापुर के दरिमा एयरपोर्ट में 72 सीटर हवाई सेवा का परिचालन यूनिडायवर्सनल मोड में किया जाएगा। जिसमें जहाज की लैंडिंग और टेक-ऑफ अलग-अलग दिशाओं से होगा। दरिमा एयरपोर्ट में ग्राम कोटया की ओर से लैंडिंग तथा मोतीपुर की ओर से टेक-ऑफ होगा। एयरपोर्ट के उत्तर दिशा की ओर मड़वा पहाड़ होने के कारण लैंडिंग की समस्या आने से 72 सीटर जहाज के परिचालन यूनिडायवर्सनल मोड में किया जाएगा
 खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने 5 अक्टूबर को दरिमा एयरपोर्ट का निरीक्षण किया । उन्होंने अधिकारियों से 72 सीटर हवाई सेवा प्रारम्भ करने के लिए सभी जरूरी कार्य त्वरित गति से प्रारम्भ करने के निर्देश दिए। मंत्री श्री भगत ने दरिमा एयरपोर्ट के टर्मिनल भवन में लोक निर्माण विभाग, राजस्व विभाग तथा एयरपोर्ट के नोडल अधिकारियों की बैठक लेकर विस्तार जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि 72 सीटर विमान सेवा प्रारम्भ करने के लिए जमीन अधिग्रहण की कार्यवाही शीघ्रता से करें। जमीन अधिग्रहण में जमीन मालिकों की सहमति अवश्य लें। उन्होंने कहा कि पुरातात्विक स्थल ठिनठिनी पत्थर को एयरपोर्ट के जद से बाहर रखें। यह जिले का एक पुरातात्विक धरोहर है। मंत्री श्री भगत ने कहा कि ओएलएक्स रिपोर्ट के अनुसार 72 सीटर विमान परिचालन हेतु रन-वे की लम्बाई 2100 मीटर करने तथा करीब 300 यात्रियों के क्षमता अनुरूप नई टर्मिनल बिल्डिंग बनाने के कार्य के लिए लोक निर्माण के अधिकारी टेंडर की प्रक्रिया शीघ्र प्रारम्भ करने क निर्देश दिए। उन्होंने नया टर्मिनल बिल्डिंग के अनुसार विद्युत व्यवस्था करने विद्युत विभाग के मुख्य अभियंता को निर्देशित किया। मंत्री श्री भगत ने कहा कि उड़ान योजना के तहत राज्य का उत्तरीय क्षेत्र को हवाई सेवा से जोड़ने के कार्य के तहत दरिमा एयरपोर्ट का विकास किया जा रहा है। जगदलपुर एयरपोर्ट से विमानों का परिचालन प्रारम्भ हो गया है। अम्बिकापुर से भी 72 सीटर विमान सेवा जल्द प्रारम्भ हो इसके लिए सभी की सामूहिक प्रयास जरूरी है।

कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने बताया कि वर्तमान में दरिमा एयरपोर्ट के रन-वे की लम्बाई 1516 मीटर है। 72 सीटर विमान परिचालन के लिए 2100 मीटर रन-वे की लम्बाई किया जाना है। अतिरिक्त 600 मीटर रन-वे निर्माण तथा अन्य तकनीकी आवश्यकताओं को देखते हुए करीब 24 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहण की आवश्यकता है। भूमि अधिग्रहण हेतु ग्राम मोतीपुर, परसापाली एवं भाटापारा 54 खातेदारों के जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि सरगुजा जिले को उड़ान योजना में शामिल करते हुए हवाई सेवा प्रारम्भ करने राज्य शासन द्वारा दरिमा हवाई अड्डे को 3-सीं श्रेणी के तहत अपग्रेड करने की मंजूरी दी है। 3-सी ऑपरेशन के उन्नयन के लिए रन-वे टैक्सी-वे और एप्रन के लिए उच्च पेवमेंट क्लासीफिकेशन बनाया जाएगा। दरिमा एयरपोर्ट के लिए 46 करोड़ रूपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। निरीक्षण के दौरान छत्तीसगढ़ खाद्य आयोग के अध्यक्ष श्री गुरूप्रीत सिंह बाबरा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Comments are closed.