रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन पर छत्तीसगढ़ से होकर जाने वाले

श्रमिकों की हो रही सकुशल रवानगी
लगभग 2 हजार श्रमिकों को पहुंचाया गया झारखंड, 504 श्रमिक आज होंगे रवाना
झारखंड से 203 श्रमिकों को लाया गया छत्तीसगढ़
राहत शिविरों में राज्य शासन और सामाजिक संस्थाओं की ओर से रहने-खाने, मास्क, सेनेटाइजर आदि की निःशुल्क व्यवस्था

रायपुर – मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया के मार्गदर्शन में लॉकडाउन के कारण छत्तीसगढ़ में फंसे विभिन्न राज्यों के श्रमिकों और अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ से होकर जाने वाले श्रमिकों को सकुशल गंतव्य स्थानों तक पहुंचाने की कार्यवाही की जा रही है। प्रदेश के विभिन्न जिलों में अन्य राज्यों के लगभग 65 हजार श्रमिक जो राहत शिविरों एवं कारखानों, नियोजकों द्वारा निर्धारित प्लेसमेंट कैम्प में रूके हुए हैं ऐसे श्रमिकों को उनकी आग्रह पर उनके निवास राज्य पहुंचाया जा रहा है। विगत एक सप्ताह के भीतर झारखंड के लगभग 2 हजार श्रमिक जो छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में फंसे हुए थे उन्हें सकुशल पहुंचाया गया है। इसी प्रकार झारखंड में रूके लगभग 203 श्रमिकों को छत्तीसगढ़ लाया गया है।
    श्रम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आज झारखंड के लगभग 504 श्रमिकों को उनके राज्य भेजा जाएगा सभी 504 श्रमिकों का थर्मल स्क्रीनिंग टेस्ट किया गया है। स्वास्थ्य जांच में निगेटिव पाए जाने वाले श्रमिकों को ही गंतव्य स्थान भेजने की कार्यवाही की जा रही है। श्रमिकों को गंतव्य स्थान भेजने के लिए बस उपलब्ध कराई जा रही है।
    अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में फंसे हुए श्रमिकों को राजधानी रायपुर स्थित सामाजिक संस्थान में लाकर ठहराया जा रहा है। साथ ही श्रमिकों के लिए निःशुल्क रहने-खाने, पानी बॉटल, मास्क सेनेटाइजर आदि की व्यवस्था की जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ के बाहर देश के अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों के लिए हेल्पलाईन नम्बर 0771-2443809, 9109849992 और 7587822800 स्थापित किया गया है। इसी प्रकार समस्त 27 जिलों में भी हेल्पलाईन नम्बर स्थापित किए गए हैं।

Comments are closed.