राजनांदगांव : पुणे से बेमेतरा लौट रही महिला की कराई गई डिलीवरी,

स्वस्थ बच्ची को दिया जन्म

राजनांदगांव।  महाराष्ट्र के रेड जाेन सिटी पुणे से अपने घर बेमेतरा लाैट रही एक महिला की डिलीवरी कराई गई।  बाघनदी के पास प्रसव पीड़ा होने पर इसे तुरंत उप स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां इसकी डिलीवरी कराई गई।  महिला ने एक बच्ची काे जन्म दिया है।  महाराष्ट्र सरकार की बस से राजनांदगांव की सीमा पर पहुंची इस महिला काे तब प्रसव पीड़ा शुरू हुई, जब वह अपने गृह ग्राम के लिए जिला प्रशासन की गाड़ी में सवार हाेने वाली थी।  रेड जाेन से आने के कारण पहले महिला की काेई मदद नहीं कर रहा था।  पुलिस की पहल पर महिला को तुरंत उप स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, वहां उसने स्वस्थ बच्ची काे जन्म दिया।  आज इस महिला को परिवार सहित बेमेतरा रवाना किया जा रहा हैं।  

बाघनदी तक हर दिन कई वाहन में सवार हाेकर प्रवासी मजदूर यहां आ रहे हैं।  महिला दाेपहर में अपने पति संताेष के साथ बेमेतरा जिला के नवागढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम कटई जाने के लिए महाराष्ट्र शासन की बस से बाघनदी तक पहुंची थी. इसी बीच महिला काे प्रसव पीड़ा शुरू हो गया।  पुलिस और चिकित्सकीय स्टाफ ने महिला काे तत्काल उप स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।  महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता राेशनी राजपूत की मदद से डिलीवरी कराई गई. जच्चा-बच्चा दाेनाें काे स्वस्थ बताया जा रहा है। 

पुणे में महिला के परिवार के अन्य सदस्याें के अलावा बेमेतरा के काफी सारे श्रमिक मजदूरी करते हैं।  लॉकडाउन में सारे लाेग फंसे रहे. शुक्रवार काे सभी लाैट रहे थे. प्रसव के बाद महिला के अलावा उसके पति और परिवार के अन्य सदस्याें काे भी प्रशासन ने संरक्षण में रखा है।  शनिवार काे महिला काे अस्पताल से छुट्टी देने के बाद सभी काे सरकारी वाहन से बेमेतरा पहुंचाया जाएगा। 

महाराष्ट्र का पुणे शहर काेराेना संक्रमण के मामले में रेड जाेन में शामिल है।  इस कारण प्रसव पीड़ा के दाैरान काेई महिला की मदद नहीं कर रहा था।  पुलिस के आगे आने के बाद ही बाकी लाेग मदद काे सामने आए।  एएसपी सुरेशा चाैबे ने बताया कि पुलिस की टीम ने मानवता का परिचय देते हुए प्रसूता महिला काे न सिर्फ अस्पताल पहुंचाया, बल्कि पूरे प्रसव के दाैरान जरूरी सहायता भी दी। 

सीएचएमओ मिथलेश चौधरी ने बताया कि बाघनदी में बेमेतरा की महिला ने एक बच्ची काे जन्म दिया है।  मितानिन की मदद से महिला का प्रसव कराया गया, जिसमें जच्चा-बच्चा दाेनाें स्वस्थ हैं। 

sources

Comments are closed.