कंटेनमेंट जोन में प्रतिबंधों का सख्ती से पालन कराएं – कलेक्टर : योजनाओं की ऑनलाइन समीक्षा बैठक सम्पन्न

अम्बिकापुर- कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने हेतु कंटेनमेंट ज़ोन घोषित किए गए क्षेत्रो में प्रतिबंधों का सख्ती से पालन कराएं ताकि कंटेनमेंट जोन घोषित करने का उद्देश्य सार्थक हो। उन्होंने कहा कि जिन्हें छूट मिला है उन्हें ही मास्क लगाकर बाहर निकलने दें बाकी को बिल्कुल भी घर से नही निकलने दें। कलेक्टर ने यह निर्देश विभिन्न योजनाओं के ऑनलाईन समीक्षा बैठक में एसडीएम एवं तहसीलदार को दिए।
कलेक्टर श्री झा ने कहा कि कंटेनमेंट जोन घोषित क्षेत्रो में प्रतिबंधों के निगरानी तथा अनुपालन के लिए एसडीएम एवं तहसीलदार जिम्मेदार होंगे। विशेष सेवाओं को ही छूट दिया गया है इसलिये दुकानों पर विशेष निगरानी रखें। कोई भी दुकानदार पिछले दरवाजे से सामान विक्रय न करें। उन्होंने कहा कि सभी कंटेनमेंट जोन में पुलिस पेट्रोलिंग टीम का गठन करें। कंटेनमेंट जोन के लिए चिन्हांकित क्षेत्र की सीमाओं की बेरिकेटिंग करायें और पुलिस के साथ अन्य विभाग के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाएं। कलेक्टर ने कहा कि पेट्रोलिंग या निगरानी के दौरान लोगों के साथ दुर्व्यवहार न करें स्वयं के साथ समझाईस दें और नियमों का पालन नहीं करने वालो पर सख्ती से जुर्माना वसूल करें। उन्होंने कहा कि परीक्षार्थियों को आने जाने के लिए उनके प्रवेश पत्र को ही सक्षम पास माना जाए। चिकित्सा कर्मियों को  आने-जाने में कोई रोक न लगाएं।

बिना अनुमति के कोई मुख्य्यालय से बाहर न रहे- कलेक्टर ने कहा कि लॉकडाउन  अवधि में विशेष कार्यों की आवश्यकता होती है ऐसे में कोई भी अधिकारी एवं कर्मचारी अपने मुख्यालय से बाहर न रहे। जिला स्तरीय अधिकारी जिला मुख्यालय से बाहर जाने पर कलेक्टर तथा अन्य कर्मचारी विकसखण्ड मुख्यालय से बाहर जाने पर संबंधित एसडीएम से अनुमति लेकर ही मुख्यालय छोड़ें। बिना अनुमति के मुख्यालय छोड़ने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
एप्प से भी जारी होगा ई-पास –  कलेक्टर श्री झा ने कहा कि यदि किसी को लॉकडाउन अवधि में तत्काल रायपुर जैसे कोविड हॉट स्पॉट जगह जाने की जरूरत पड़ता है तो वे राज्य शासन द्वारा विकसित मोबाईल एप्प सीजी कोविड-19 ई-पास से बहुत ही आसानी से ई-पास प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि यह एप्प एंड्रॉइड मोबाईल में प्ले स्टोर से डाउन लोड किया जा सकता है।
कलेक्टर ने मीटिंग के दौरान सभी गोठानो में नेपियर घास लगाने, गोधन न्याय योजना के तहत चयनित 86 गोठानो में वर्मी कम्पोष्ट का निर्माण करने तथा फलदार एवं लघु वनोपज के पौधे लगाने के निर्देश जनपद के सीईओ को दिए। उन्होंने सुपोषण अभियान के तहत कुपोषित बच्चों के घर मुनगा और पपीता के पौधों की देख-भाल करने, आंगनबाड़ी के सभी  हितग्राहियों को सूखा राशन वितरण करने तथा जहां आंगनबाड़ी खुले है वहां निर्देशो का पालन करते हुए गरम भोजन प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होंने गिरदावारी का समीक्षा करते हुए कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में गिरदावारी प्रकाशन की सूची चस्पा कराएं। यदि कहीं त्रुटि हो तो 7 अक्टूबर से पहले आवश्यक सुधार कर ले। 7 अक्टूबर तक दावा आपत्ति का निराकरण करें तथा तहसीलदार गिरदावारी संतुष्टि प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें।
बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री कुलदीप शर्मा डी एफओ श्री पंकज कमल, सहायक कलेक्टर श्री विश्वदीप, सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ सहित जिला अधिकारी ऑनलाईन जुड़े हुए थे।

Comments are closed.