सरगुजा: रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया BEO ऑफिस का लेखपाल

अंबिकापुर।  एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है।  लुंड्रा BEO ऑफिस में पदस्थ लेखपाल पटेल राम राजवाड़े मृत प्रधान पाठक की बेटी से रिश्वत ले रहा था।  बताया जा रहा है, लेखपाल मौत के बाद मिलने वाली शासकीय सुविधाओं के लिए मृतक की बेटी से रिश्वत ले रहा था। 

बताया जा रहा है, रिश्वत कई किश्तों में देना तय हुआ था, जिसकी पहली किश्तों प्रधान पाठक की बेटी ने पटेल राम को कुच दिनों पहले ही दी थी, इसके बाद लेखापाल फिर से पैसों की मांग कर रहा था।  जिसके बाद रिश्वत की दूसरी किश्त लेते हुए एसीबी ने शहर के महामाया पेट्रोल पंप से पटेल राम को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल, लुंड्रा विकासखंड के डूमरडीह देवरी प्राथमिक शाला में प्रधान पाठक के पद पर पदस्थ परमेश्वर राजवाड़े की 26 अप्रैल 2016 को मौत हो गई थी, लेकिन मृतक की बेटी को मौत के बाद मिलने वाली शासकीय सुविधाओं के लिए अब तक घुमाया जा रहा था और रिश्वत की मांग की जा रही थी।  हालांकि मृतक की बेटी ने पहले 5 हजार रुपये रिश्वत के तौर पर पटेल राम दे चुकी थी, लेकिन पटेल राम और पैसी की मांग कर रहा था।  जिसकी शिकायत मृतक की बेटी ने एंटी करप्शन ब्यूरो में की, जिसके बाद गुरुवार की सुबह एसीबी की टीम ने आरोपी पटेल राम राजवाड़े को रंगे हाथों पकड़ा है। 


एसीबी की अंबिकापुर टीम ने आरोपी पटेल राम के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कर डीएसपी गौरव मंडल के नेतृत्व में उसे गिरफ्तार कर लिया है।  आरोपी के खिलाफ अब भ्रष्टाचार का केस चलेगा. जिसमें दोषी पाये जाने के बाद पटेल राम को जेल भी हो सकती है। 

sources