बच्चों को अध्याय रटाना नहीं, बल्कि उसका अर्थ समझाना है: डॉ. आलोक शुक्ला

स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने आज जशपुर जिले के विकासखंड बगीचा में संचालित मोहल्ला क्लास का अवलोकन कर  बच्चों के शिक्षा के स्तर को करीब से जाना और समझा। बगीचा के दुर्गापारा के मोहल्ला क्लास में उन्होंने बच्चों के पठन कौशल, गणितीय प्रयोग कौशल, जोड़कर खेल विधि प्रयोग की जानकारी ली और बच्चों की बौद्धिक क्षमता का आंकलन किया। डॉ. शुक्ला ने बच्चों से कई सवाल किये, बच्चों ने भी उनके सवालों का जवाब दिया। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित शिक्षक से कहा कि बच्चे को सिर्फ रटाना नहीं है, बल्कि उसका अर्थ भी समझाना है।
    डॉ. शुक्ला ने मोहल्ला क्लास में एक बच्चे से सवाल के जवाब के बाद अमर-शहीद का अर्थ बताते हुए समझाया की अमर शहीद वह है जिसकी यादे जेहन में हमेशा रहती हैं। डॉ. शुक्ला ने शैक्षणिक स्तर के इस जमीनी जायजे में सबसे पहले गांव रौनी में संचालित मोहल्ला क्लास का अवलोकन किया। जहाँ बच्चे विज्ञान विषय पर प्रयोगात्मक पढ़ाई करते हुए मिले। उन्होंने बच्चों की बौद्धिक क्षमता का आंकलन करते हुए, विद्युत के सुचालक और कुचालक विज्ञान प्रयोग के साथ कक्षा अध्यापन एवं बच्चों में समझ विकसित होने के संबंध में जानकारी ली। जिसे देखकर उन्होंने खुशी जाहिर की। इस अवसर पर स्कूल शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।