चीतल के अवैध शिकार में दो आरोपी गिरफ्तार

 रायपुर- वन मंत्री श्री मोहम्मद के अकबर के निर्देशानुसार राज्य में वन विभाग द्वारा वन्य प्राणियों के अवैध शिकार की रोकथाम सहित वनों की सुरक्षा के लिए अभियान लगातार चलाया जा रहा है। इस तारतम्य में अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) श्री अरूण पाण्डेय ने बताया कि आज मुखबीर की सूचना के आधार पर अचानकमार टायगर रिजर्व के कोर क्षेत्र में स्थित सुरही ग्राम में तलाशी ली गई। इसमें मौके पर चीतल का मांस सहित शिकार के लिए प्रयुक्त सामग्रियों को जप्त कर ग्राम सुरही के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। 

    अचानकमार टायगर रिजर्व लोरमी के उप संचालक श्रीमती विजया रात्रे और अचानकमार अमरकंटक बायोस्फीयर रिजर्व के क्षेत्र संचालक श्री नायर विष्णुराज नरेन्द्रन के संयुक्त निर्देशन में दो पृथक-पृथक टीम गठित की गई और सूचना के आधार पर टायगर रिजर्व के वन परिक्षेत्र सुरही के अंतर्गत ग्राम सुरही में सर्च वारंट जारी कर तलाशी ली गई। ग्राम सुरही में तलाशी के दौरान चीतल के अवैध शिकार में संलिप्त पंचू बैगा और छोटू बैगा को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा अवैध शिकार में संलिप्त अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। उक्त कार्रवाई में अचानकमार टायगर रिजर्व लोरमी के सहायक संचालक श्री चूड़ामणी  सिंह वन परिक्षेत्र अधिकारी श्री दिनेश कुमार ठाकुर, श्री विकास कुमार चन्द्राकर, श्री निखिल कुमार पैकरा तथा श्री बुधवार सिंह आदि का सराहनीय योगदान रहा। 

Comments are closed.