महिला सशक्तिकरण पर दो दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार सम्पन्न

नारायणपुर– इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अधीनस्थ कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र नारायणपुर, एस.एस.कन्या महाविद्यालय और एजूकेशन सोसायटी, गोंदिया के संयुक्त तत्वावधान में महिला सशक्तिकरण के लिए कौशल विकास में प्रसार शिक्षा का योगदान विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय वर्कशॉप का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय वर्कशॉप का उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. आर.के बाजपायी, निर्देशक अनुसंधान सेवाएं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर द्वारा किया गया। उन्हेंने अपने उद्बोधन में कहा कि महिला सशक्तिकरण आवश्यक है, क्योंकि महिलाओं में निर्णय लेने की क्षमता विकसित होती है, जिससे वह अपने जीवन से जुड़े निर्णय ले सकती है, समाज में वे अपना स्थान प्राप्त कर सकती है। महिलाओं में कौशल विकास होगा तो वे अपना जीविकार्पाजन का माध्यम बना कर परिवार को भी सशक्त बना सकती है। महिलाओं में कौशल विकास करने पर जोर डालते हुए उनके द्वारा कृषि संबंधी तकनीकी जानकारी दी गई।

 राष्ट्रीय वर्कशॉप वेबिनार में अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय नारायणपुर डॉ. रत्ना नशीने ने महिला सशक्तिकरण विषय पर प्रकाश डालते हुए जीवन्त महिला सशक्तिकरण पर सफलता की कहानियों से अपना व्यख्यान दिया। डॉ. एम.पी. ठाकुर निर्देश शिक्षण इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के द्वारा मशरूम के पौष्टिक एवं औषधियों, गुणों तथा विभिन्न मशरूमों का उत्पादन कर रहें महिला कृषकों के सशक्तिकरण पर प्रकाश डाला तथा कई जीवन्त उदाहरण अपने प्रस्तुतीकरण में दिये। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए एस.एम. कन्या महाविद्यालय के श्रीमती संध्या मून, डॉ. आर लिलहारे श्री एम.बी. कुर्वे, डॉ. आय.जी.खटवानी, डॉ. जे. डी.पुंडे, कु. टेमभरे तथा कृाि महाविद्यालय के डॉ. अनिल दिव्या, डॉ. जे. एल. नाग, डॉ. उमेश दास, श्री किशोर मण्डल, श्री पनेश कुमार, की सक्रीय भूमिका रहीं। वेबिनार में 350 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।  

Comments are closed.