देश के 112 आकांक्षी जिलों में नारायणपुर वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास में द्वितीय

Joharcg.com नीति आयोग के 112 आकांक्षी जिलों में शामिल नारायणपुर जिला कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू के नेतृत्व में विकास के मापदंडों में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। नीति आयोग के तय मानकों पर काम करते हुए नारायणपुर जिला ने पूरे देश में वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास के क्षेत्र में दूसरा स्थान हासिल किया है। देश के आकांक्षी जिलों में वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास में नारायणपुर को द्वितीय स्थान मिलने पर कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू ने समस्त अधिकारी-कर्मचारियों का आभार प्रकट किया है और आने वाले समय में और अधिक मेहनत कर जिले को रैंकिंग में और ऊपर ले जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि जिले के लिए यह एक बड़ी खुश-खबरी है और कोरोना काल के बाद नारायणपुर जिले में तरक्की की नई बुलंदियों को छूने का हौसला दिया। कलेक्टर ने जिले के प्रगति की दिशा में एक ठोस शुरुआत बताते हुए जनकल्याण के कार्यों की गति को निरन्तर बनाये रखने की बात कही।

नीति आयोग द्वारा आकांक्षी जिलों के अक्टूबर 2021 की डेल्टा रैंकिंग जारी की गई, जिसमें नारायणपुर जिला ने वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। स्वास्थ्य और पोषण, वित्तीय समावेश और कौशल विकास ,आधारभूत अधोसंरचना के मानकों में सुधार आने से डेल्टा रैंकिंग की कम्पोजिट स्कोर में नारायणपुर जिला का 24वें स्थान रहा। देश में नारायणपुर जिला वित्तीय समावेश व कौशल विकास में द्वितीय रहा। वहीं स्वास्थ्य व पोषण में 47 वें स्थान, शिक्षा में 71 वें, कृषि में 61वे, आधारभूत संरचना में 98वें स्थान डेल्टा रैंकिंग में नारायणपुर जिला को दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि 5 वर्गों के विभिन्न मानक बिन्दुओं पर नीति आयोग ने देश के 112 जिलों की रैंकिंग जारी की है। नीति आयोग द्वारा विकास के विभिन्न मापदण्डों के आधार पर देश के सर्वाधिक सुधार वाले आकांक्षी जिलों की माह अक्टूबर 2021 की डेल्टा रैंकिंग में नारायणपुर जिला देश में 24 वां स्थान हासिल किया, तो वहीं वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास में पूरे देश मे द्वितीय स्थान रहा। देश के आंकाक्षी जिलों में सामाजिक विकास के विभिन्न क्षेत्रों में दर्ज की गई प्रगति के आधार पर नीति आयोग द्वारा रैंकिंग की गई है।