सिंचाई परियोजनाओं के लिए 22 करोड़ रूपए स्वीकृत

Joharcg.com छत्तीसगढ़ शासन ने विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण एवं सुधार कार्यों के लिए 22 करोड़ 43 लाख 84 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी है। योजनाओं के पूरा होने से दो हजार सात सौ चौतीस हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। कोरिया जिले के विकासखण्ड सोनहत के अंतर्गत प्रस्तावित बदरा जलाशय के बांध एवं नहर सुधार कार्य के लिए एक करोड़ 74 लाख 97 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 342 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड सोनहत के अंतर्गत कुशमाहा जलाशय एवं नहर का जीर्णोद्धार कार्य के लिए एक करोड़ 27 लाख 94 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 421 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड भरतपुर के अंतर्गत प्रस्तावित ओदारी डायवर्सन योजना के वियर में आवश्यक सुधार एवं मुख्य नहर में आर.डी. 0 मी. से 5700 मी. तक सी.सी.चैनल निर्माण कार्य के लिए दो करोड़ 40 लाख 46 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 971 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।


बिलासपुर जिले के विकासखण्ड कोटा के अंतर्गत बांकीघाट-2 एनीकट कार्य के लिए एक करोड़ 75 लाख 25 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 77 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड कोटा अंतर्गत औरापानी जलाशय का शीर्ष कार्य का सुदृढ़ीकरण एवं नहरों का सीमेंट कांक्रीट लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 48 लाख 97 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई। योजना के पूरा होने से 233 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड कोटा के अंतर्गत मझगांव एनीकट कार्य के लिए दो करोड़ 96 लाख 97 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 120 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड मस्तूरी अंतर्गत मोंगरा जलाशय उन्नयन कार्य के लिए एक करोड़ 22 लाख 55 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 160 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। गौरेल-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के विकासखण्ड गौरेला अंतर्गत ठेगाडांड एनीकट कार्य के लिए दो करोड़ 81 लाख 69 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 40 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बिलासपुर (गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही) जिले के मझगांव (केंदाडांड) सूक्ष्म सिंचाई कार्य के लिए दो करोड़ 78 लाख तीन हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 110 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड गौरेला अंतर्गत रानीझाप एनीकट सूक्ष्म सिंचाई कार्य के लिए दो करोड़ 97 लाख एक हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। योजना के पूरा होने से 260 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।