दंतेवाड़ा के विकास के लिए समन्वित प्रयास करें: मुख्य सचिव श्री जैन : पूना माड़ाकाल दंतेवाड़ा (गढ़बो नवा दंतेवाड़ा) के तहत होगा दंतेवाड़ा का सर्वांगिण विकास

रायपुर : मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन ने दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले के समग्र विकास एवं वहां के लोगों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर एवं स्वावलंबी बनाने के लिए सभी विभागों को समन्वित प्रयास करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप गरीबी रेखा के नीचे जीवन-यापन करने वाले परिवारों को आर्थिक रूप से समक्ष एवं सशक्त बनाने के लिए सभी विभाग के अधिकारी पूरी संवेदनशीलता के साथ आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें। मुख्य सचिव श्री जैन आज यहां मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दंतेवाड़ा जिले में विकास कार्याें की समीक्षा कर रहे थे।
    दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में विभिन्न विकास कार्याें की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव श्री जैन ने कहा कि दंतेवाड़ा जिले में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों कोे रोजगार से जोड़ने के लिए सभी विभाग संयुक्त रूप से कार्ययोजना तैयार कर वार्षिक लक्ष्य निर्धारित करें।     मुख्य सचिव ने कहा कि महिलाओं के अधिक से अधिक समूह गठित कर उन्हें आर्थिक गतिविधियों से जोड़ने का कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि स्व सहायता समूहों के द्वारा तैयार सामग्री का उपयोग छात्रावासों, आश्रमों एवं पुलिस कैम्प में किया जाए, जिससे समूह के सदस्यों को रोजगार मिलें। इसी तरह से सुपोषण अभियान के तहत गर्भवती एवं शिशुवती माताओं को गरम-भोजन अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं। उन्होंने  गौठानों को आजीविका केन्द्रों में परिवर्तित कर वहां पर रोजगार परख कार्य कराने के निर्देश दिये।
    मुख्य सचिव ने वनाधिकार पट्टाधारियों को शासन की हितग्राही मूलक योजना से लाभान्वित करने तथा किसानों को लघु एवं सूक्ष्म सिंचाई योजनाओं के माध्यम से सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराकर उद्यानिकी फसलों की खेती के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कृषि, स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास सहित अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों को दंतेवाड़ा जिला का दौरा कर विभागीय कार्यो की जमीनी हकीकत देखने के भी निर्देश दिये है।
    दंतेवाड़ा (Dantewada) कलेक्टर ने बताया कि पूना माड़ाकाल दंतेवाड़ा (गढ़बो नवा दंतेवाड़ा) कार्यक्रम के तहत नवा दंतेवाड़ा गारमेंट फैक्टरी के माध्यम से लगभग 150 परिवारों को रोजगार मिल रहा है। इसी तरह गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट के निर्माण से 240 परिवार, महिला समूह को दंतेश्वरी मार्ट एवं अन्य कार्याें से 2368 परिवार, ग्राम स्वरोजगार केंद्र से 121 परिवार, कड़कनाथ मुर्गीपालन से 264 परिवार, नवा चेतना योजना बेकरी जिला दंतेवाड़ा से 10 परिवार, दंतेश्वरी माई मितान पेंशन योजना से 105 परिवार, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से 2620 परिवार, डेनेक्स एफ.पी.ओ. से 4158 परिवार, बांस ट्री गार्ड निर्माण से 406 परिवार, वनोपज संग्रहण एवं प्रसंस्करण से 2500 परिवार तथा पर्यटन संग स्वरोजगार से 62 परिवारों को जोड़ा गया है।  
    बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग श्रीमती रेणु जी पिल्ले, प्रमुख सचिव वन श्री मनोज पिंगुआ, सचिव ग्रामोद्योग डॉ. एम. गीता, सचिव वित्त श्रीमती अलरमेल मंगई डी., सचिव खाद्य डॉ. कमलप्रीत सिंह, सचिव महिला एवं बाल विकास श्रीमती रीना बाबा साहेब कंगाले, सचिव जल संसाधन श्री अविनाश चम्पावत, सचिव आदिम जाति विकास श्री डी.डी. सिंह, बस्तर कमिश्नर श्री जी.आर. चुरेन्द्र, कलेक्टर दंतेवाड़ा श्री दीपक सोनी सहित वरिष्ठ अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *