The struggles of great men will always be remembered - Minister Dr. Dahria
नगरीय प्रशासन मंत्री ने सावित्री बाई फुले और डाॅ.आंबेडकर की प्रतिमा का किया अनावरण

रायपुर – नगरीय प्रशासन एवं विकास तथा श्रम मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया ने आरंग विकासखण्ड के ग्राम परसकोल में पहली महिला शिक्षिका और समाज सुधारिका श्रीमती सावित्री बाई फुले और संविधान निर्माता बाबा साहब डाॅ. भीमराव आंबेडकर के प्रतिमा का अनावरण किया।

इस अवसर पर मंत्री डाॅ. डहरिया ने कहा कि श्रीमती सावित्री बाई फुले ने विपरीत परिस्थितियों में शिक्षा हासिल किया और एक शिक्षिका के रूप में उन्होंने गरीबों को पढ़ाया। उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। पहली शिक्षिका होने के साथ समाज सुधारिका के रूप में उनकी पहचान हमेशा बनी रहेगी। इसी तरह बाबा साहब डाॅ. भीमराव आंबेडकर ने भी संघर्षमय जीवन व्यतीत कर उच्च शिक्षा हासिल किया और एक महान संविधान लिखकर सभी को बराबरी से जीने का हक प्रदान किया। हमें ऐसे महान पुरूषों के योगदान को कभी भूलना नहीं चाहिए। इस दौरान उन्होंने भारत माता के प्रतिमा का अनावरण भी किया। मंत्री डाॅ. डहरिया ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में महापुरूषों के संघर्षों को बताकर उनके बताए हुए रास्ते पर चलकर आगे बढ़ा जा सकता हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार छत्तीसगढ़ के विकास के लिए कार्य कर रही है। सभी वर्गों को साथ लेकर चल रही है। इस दौरान जनपद सदस्य श्री खिलेश देवांगन, कोमल साहू, सरपंच श्रीमती कमलेश्वरी जनक राम साहू सहित जनप्रतिनिधि सहित क्षेत्र के ग्रामीणजन उपस्थित थे।

The struggles of great men will always be remembered – Minister Dr. Dahria