जब मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने थामा बल्ला और लगाए चार चौके : क्रिकेट टूर्नामेंट का शुभारंभ करने पहुचे थे

रायपुर – अपने विधानसभा आरंग क्षेत्र के गुल्लू में क्रिकेट टूर्नामेंट का शुभारंभ करने पहुचे नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया खिलाड़ियों को देखकर खुद को बैटिंग और बॉलिंग करने से नहीं रोक सके। उन्होंने मैदान के पिच पर उतारने की ठानीं और बल्ला लेकर बैटिंग करने तैयार हो गए। कोट पहने हुए मंत्री डॉ. डहरिया को पिच पर एक बल्लेबाज के रूप में देखकर वहां उपस्थित जनप्रतिनिधि और ग्रामीणों को भी कौतुहल सा था कि मंत्री जी बॉलिंग का सामना कर पाएंगे या नहीं। आखिरकार जैसे ही बॉलर ने बॉल फेंकी मंत्री डॉ. डहरिया ने अपना बल्ला उठाकर घुमाया और पहली ही बॉल को बाउण्ड्री के बाहर पहुचा दिया। पहली ही बॉल में चौका लगाने के बाद उन्होंने अपनी शानदार पारी जारी रखी और एक ओवर में 4 चौके लगा डाले। बैटिंग के बाद उन्होंने तत्काल पिच नहीं छोड़ी। इस दौरान उन्होंने अपना कोट उतार कर बॉलिंग में भी हाथ आजमाया। मंत्री डॉ. डहरिया को एक क्रिकेट प्लेयर और उनके बेहतरीन प्रदर्शन को देखकर उपस्थित खिलाड़ी, जनप्रतिनिधि, ग्रामीण भी मानों दांतों तले उंगली दबाने और ताली बजाने विवश हुए। गौरतलब है कि डॉ.डहरिया क्रिकेट के अच्छे खिलाड़ी रहे हैं। वर्तमान में उनके बेटे श्री आशीष डहरिया भी क्रिकेट के बहुत अच्छे खिलाड़ी है और अडंर-20 में खेलने के साथ राष्ट्रीय स्तर पर भी अनेक प्रतियोगिता में मान सम्मान हासिल कर चुके हैं।

आरंग के अकोली रोड़ स्थित गुल्लू हाई स्कूल मिनी स्टेडियम में क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ करने पहुचे मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने अपने उदबोधन में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा युवाओं और खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि खेल से छिपी हुई प्रतिभा सामने आती है। उन्होंने कहा कि शारीरिक विकास के साथ आगे बढ़ने का अवसर मिलता है। खेल एवं युवा कल्याण विभाग के माध्यम से युवा उत्सव का आयोजन, नए खेल मैदान और खेल को बढ़ावा देने शासन स्तर पर भी अनेक प्रयास किए गए हैं। उन्होंने कहा कि खेल में हार-जीत होती है। इसलिए हारने जीतने वाले को खेल भावना से ही खेल खेलना चाहिए। मंत्री डॉ. डहरिया ने कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाली छात्राओं और खिलाड़ियों का सम्मान भी किया। इस दौरान जनपद अध्यक्ष श्री खिलेश देवांगन, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती केशरी मोहन साहू, कोमल साहू, सरपंच श्रीमती कुमारी नारायण देवदास, श्री हीरादास जांगड़े गोविंद साहू, जनपद सदस्य, कमलेश मनहरे, डॉ.देवव्रत साहू आदि उपस्थित थे।