राजभवन में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए कार्यशाला का हुआ आयोजन : विशेषज्ञ चिकित्सकों ने लोगों की शंकाओं का किया समाधान

रायपुर- राजभवन के सचिव श्री सोनमणि बोरा के मार्गदर्शन में राजभवन में आज कोरोना वायरस के संक्रमण और उसके बचाव के संबंध में राजभवन के अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए कार्यशाला आयोजित की गई। इसमें विशेषज्ञ चिकित्सक डब्लयूएचओ के प्रतिनिधि के रूप में डॉ. प्रणीत फटाले, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण प्रशिक्षण संस्थान के संचालक, डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने कोरोना वायरस के संक्रमण के बारे में जानकारी दी और शंकाओं का समाधान किया। 
डॉ. अमर सिंह और डॉ. प्रणीत ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के संक्रमण का फैलाव हो रहा है। नागरिकों को अब विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इस बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है बल्कि आत्मबल बनाएं रखने और जागरूक होने की आवश्यकता है। इससे संक्रमित होने वाले अधिकतर मरीज स्वस्थ हो रहे है।

डॉ. प्रणीत ने कहा कि भीड़-भाड़ वाले स्थान पर कम जाए। यदि बाहर जाने की जरूरत पड़ती है तो आपस में न्यूनतम एक मीटर की दूरी रखें, हमेशा मास्क का उपयोग करें और बार-बार साबुन से हाथ धोयें। उन्होंने बताया कि जब हम खांसते, छीकतें है तो वायरस निकलता है और प्रकृति में भारी होने पर यह नीचे गिर जाता है। यदि हम दूरी बनाए रखेंगे तो यह हमें प्रभावित नहीं करेगा। वायरस के संपर्क में आने पर बीमारी का फैलाव होगा। अतः हम जिस सतह या वस्तु का उपयोग करते है उसे बार-बार सेनेटाइज करते रहे और उपयोग करने के बाद अपने हाथों को जरूर धोयें। उन्होंने बताया कि घर के फर्श को साफ करने के लिए ब्लीचिंग पावडर या एल्कोहल युक्त सॉल्यूशन का उपयोग कर सकते है।  डॉ. अमर ने बताया कि शासन द्वारा कोविड-19 के इलाज के लिए सभी आवश्यक इंतजाम किए जा रहे हैं। विशेष रूप से कोविड-19 अस्पताल बनाए जा रहें है जिसमें बिना लक्षण वाले और लक्षण वाले मरीजों को अलग-अलग रखकर उपचार की व्यवस्था है। इस समय आम जनता को भी सहयोग करने की आवश्यकता है। कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना मिलने पर सबसे पहले अपने आप को आइसोलेट करे और परिवार की सुरक्षा करें। उन्होंने सुझाव दिया कि समुदाय भी इस बीमारी से बचाव के लिए सहयोग करें। हम अपने मोहल्ले, कालोनी या ग्राम पंचायत में आपसी सहयोग से पृथक आवास की व्यवस्था कर कोविड-19 के बिना लक्षण वाले मरीजों को रख सकते हैं और चिकित्सक के मार्गदर्शन में अपना इलाज भी करा सकते है। 

उन्होंने कहा आम जनता अधिकृत समाचारों पर भरोसा करें। उन्होंने आम जनता से अपील की है कि सर्दी, बुखार या कोरोना से जुड़े अन्य लक्षण होने पर अपना परीक्षण अवश्य कराएं। परीक्षण करवाने से बीमारी के बारे में जानकारी मिलेगी और सही समय में इलाज कराया जा सकेगा।

कार्यक्रम में राजभवन के नियंत्रक श्री हरवंश मिरी, राजभवन के चिकित्सा अधिकारी डॉ. रूपल पुरोहित, डॉ. सुनीति मंगुलकर, डॉ. शिशिर साहू तथा अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Comments are closed.